Friday , 5 March 2021

झूठ का पर्दाफाश होने के बाद भी सरकार कृषि कानूनों को निरस्त नहीं करना चाहती : चिदंबरम


नई दिल्ली (New Delhi) . पूर्व वित्त मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी.चिदंबरम ने कहा है कि झूठ का पर्दाफाश होने के बाद भी सरकार कृषि कानूनों को निरस्त नहीं करना चाहती. उन्होंने कहा कि कृषि कानून पर सरकार को अपनी गलती स्वीकार कर लेना चाहिए.

चिदंबरम ने कहा कि उम्मीद के अनुसार वार्ता विफल रही, और इसके लिए सरकार को दोषी ठहराया जाना चाहिए, क्योंकि आरटीआई प्रतिक्रियाओं से सरकार के झूठ का पर्दाफाश होने के बाद भी सरकार कानूनों को निरस्त नहीं करना चाहती है. उन्होंने कहा, “सच्चाई यह है कि सरकार ने किसी से भी सलाह नहीं ली थी. विशेष रूप से, राज्य सरकारों से परामर्श नहीं किया गया था.” उन्होंने कहा, “गतिरोध से निकलने का एकमात्र तरीका सरकार को अपनी गलती स्वीकार करना और नए तरीके से फिर से शुरुआत करना है.”

ज्ञात रहे कि कृषि कानूनों पर सरकार और आंदोलनकारी किसानों के बीच नौवें दौर की वार्ता शुक्रवार (Friday) को बिना किसी निर्णय के लिए समाप्त हो गई और बैठक का अगला दौर 19 जनवरी को निर्धारित किया गया है.

Please share this news