Thursday , 13 May 2021

केंद्र ने राज्यों से कहा पकाए गए चिकन और अंडे से बर्ड फ्लू का डर नहीं


नई दिल्ली (New Delhi) . देश कोरोना के बाद अब बर्ड फ्लू के कहर से डरा हुआ है. इस बीट अच्छी तरह से पकाए गए चिकन और अंडे के सुरक्षित होने का आश्वासन देते हुए, केंद्र सरकार (Central Government)ने शनिवार (Saturday) को देश भर की राज्य सरकारों से अनुरोध किया कि वे पोल्ट्री की बिक्री पर प्रतिबंध को हटा दें. साथ ही गैर-संक्रमित क्षेत्रों राज्यों में पोल्ट्री उत्पादों की बिक्री की अनुमति दें.

बता दें कि कि केरल (Kerala), राजस्थान, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा (Haryana) , गुजरात (Gujarat) बर्डफ्लू की चपेट में हैं मत्स्य, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय एफएएचडी ने एक विज्ञप्ति में कहा कि लोगों को बर्ड फ्लू के प्रसार के बारे में अवैज्ञानिक अफवाहों पर ध्यान नहीं देना चाहिए. मंत्रालय ने कहा कि प्रतिबंध से पोल्ट्री और अंडा बाजारों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है और इससे पोल्ट्री और मक्के के किसान प्रभावित हुए हैं, जो पहले से ही कोविड-19 (Covid-19) महामारी (Epidemic) से प्रभावित हैं. एफएएचडी ने कहा कि राज्यों से अनुरोध किया गया है कि वे पोल्ट्री और पोल्ट्री उत्पादों की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने के अपने फैसले पर पुनर्विचार करें और गैर-संक्रमित क्षेत्रों राज्यों से पोल्ट्री और पोल्ट्री उत्पादों की बिक्री की अनुमति दें.

यह कहा गया है कि अच्छी तरह से पका हुआ भोजन, चिकन और अंडे इंसानों के लिए सुरक्षित हैं. गौरतलब है कि बर्ड फ्लू के अधिकांश स्ट्रेन मनुष्यों को प्रभावित नहीं करते हैं. हालांकि, बीमारी संक्रमित के पक्षी मल, नाक, मुंह के जरिए फैल सकती है लेकिन एक बार पूरी तरह से पकने के बाद मुर्गी या पोल्ट्री डिश खाना भी सुरक्षित है

Please share this news