Friday , 14 May 2021

बिहार के बहादुरगंज अररिया और मुंगेर मिर्जाचौकी फोरलेन सड़क की मिली मंजूरी

पटना (Patna) . केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने बिहार (Bihar) की दो अहम अररिया-गलगलिया और मुंगेर-मिर्जाचौकी सड़कों की मंजूरी दे दी है. मंजूर हुई 103 किमी लंबी सड़क पर लगभग ढाई हजार करोड़ खर्च होंगे. दोनों सड़कों में 80 फीसदी जमीन अधिग्रहण के बाद एनएचएआई की बिहार (Bihar) इकाई ने इसके टेंडर के लिए केंद्र सरकार (Central Government)से मंजूरी मांगी थी. केंद्र सरकार (Central Government)ने दोनों सड़कों की मंजूरी के साथ ही टेंडर भी जारी कर दी, जिसकी आधिकारिक सूचना जल्द ही वेबसाइट पर जारी की जाएगी. अररिया-गलगलिया का दो पैकेज में निर्माण होना है.

इसके पहले पैकेज में गलगलिया से बहादुरगंज के बीच सड़क बनेगी, जो 49 किमी लंबी है. इसके निर्माण पर कुल खर्च 766 करोड़ होगा. इसका पहले ही टेंडर जारी हो चुका है. इसी सड़क के दूसरे पैकेज में बहादुरगंज से अररिया के बीच सड़क निर्माण होना है. 45 किमी लंबी इस सड़क पर 780 करोड़ 32 लाख खर्च होना है. बिहार (Bihar) के सीमावर्ती जिले और सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण अररिया-गलगलिया फोरलेन सड़क कुल 94 किमी लंबी है. इस सड़क के निर्माण पर 1546 करोड़ खर्च होंगे. इस फोरलेन सड़क के बनने से बिहार-नेपाल के समानांतर एक और सड़क हो जाएगी जो आपात स्थिति में एनएच 57 के एक विकल्प के रूप में काम करेगा. वहीं अररिया के अलावा सुपौल, मधुबनी, दरभंगा, मुजफ्फरपुर सहित अन्य जिलों से नेपाल और बंगाल आना-जाना और आसान हो जाएगा.

मुंगेर से मिर्जाचौक तक बनने वाली 124 किलोमीटर लंबी सड़क 5850 करोड़ से बननी है. चार पैकेज में बनने वाली इस सड़क के दो पैकेज एक व तीन की मंजूरी दी गई है. पैकेज एक में 26.06 किमी लंबी सड़क पर 808.80 करोड़ खर्च होना है. जबकि पैकेज तीन में 32.39 किमी लंबी सड़क पर 885 करोड़ खर्च होना है. मुंगेर-मिर्जाचौकी सड़क से न केवल पूर्वी बिहार (Bihar) के विकास का द्वार खुलेगा, बल्कि बिहार-झारखंड के बीच सड़क कनेक्टिविटी और मजबूत होगी. मुंगेर से सुल्तानगंज, भागलपुर, कहलगांव होते हुए मिर्जाचौकी सड़क बिहार-झारखंड बॉर्डर तक वर्तमान राष्ट्रीय उच्च पथ-80 सघन बसावट वाले क्षेत्रों से गुजरती है. इस सड़क से झारखंड के संथाल परगना क्षेत्र से बिहार (Bihar) में पत्थरों की आवाजाही होती है. इस कारण भागलपुर क्षेत्र में आये दिन जाम की भीषण समस्या रहती है.

Please share this news