Tuesday , 15 June 2021

सैलरी न मिलने से नाराज हिंदू राव अस्पताल के डॉक्टर सामूहिक छुट्टी पर गए

नई दिल्ली (New Delhi) . दिल्ली में दोबारा से बेलगाम होते कोरोना (Corona virus) संक्रमण के बीच उत्तरी दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी) द्वारा संचालित हिंदू राव अस्पताल में स्वास्थ्य व्यवस्था एक बार फिर चरमराने लगी है. एनडीएमसी मेडिकल कॉलेज और हिंदू राव अस्पताल के रेजिडेंट डॉक्टर (doctor) अपना बकाया वेतन जारी करने की मांग को लेकर आज एक दिन के सामूहिक आकस्मिक अवकाश पर चले गए हैं.

रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन ने बताया कि रेजिडेंट डॉक्टरों (Doctors) और डीएनबी प्रशिक्षुओं को वेतन और बकाया का भुगतान नहीं किए जाने पर दिल्ली के एनडीएमसी मेडिकल कॉलेज और हिंदू राव अस्पताल के डॉक्टरों (Doctors) ने शुक्रवार (Friday) से सामूहिक आकस्मिक छुट्टी पर जाने की घोषणा की है. रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन ने उनकी मांगें पूरी नहीं होने पर 22 मार्च से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की भी चेतावनी दी है.

बता दें कि, कोरोना महामारी (Epidemic) सबसे आगे रहकर और अपनी जान जोखिम में डालकर मरीजों का इलाज और उनकी देखभाल करने वाले डॉक्टरों (Doctors) व अन्य स्वास्थ्यकर्मियों को उनकी सैलरी नहीं मिल रही है. इसी से परेशान होकर आज दिल्ली के एनडीएमसी मेडिकल कॉलेज और हिंदू राव अस्पताल के डॉक्टर (doctor) एक दिन के सामूहिक अवकाश पर चले गए हैं. डॉक्टरों (Doctors) ने यह कदम इसलिए उठाया है क्योंकि बीते कई महीनों से उनका वेतन और पिछला एरियर नहीं मिला है. ऐसे में जब तक डॉक्टरों (Doctors) और डीएनबी ट्रेनियों की सैलरी और एरियर नहीं मिलता उनकी हड़ताल खत्म नहीं होगी.

Please share this news