Monday , 14 June 2021

इलाहाबाद हाईकोर्ट को मिले 7 नए एडिशनल जज

प्रयागराज (Prayagraj). भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के आदेश पर ज्वाइंट सेक्रेट्री (भारत सरकार) राजिंदर कश्यप ने न्यायिक सेवा से बनाए गए एडिशनल जजों की नियुक्ति की अधिसूचना जारी कर दी है. नए जजों में इलाहाबाद हाईकोर्ट के महानिबंधक सहित जिला जज रैंक के सात न्यायिक अधिकारी एडीशनल जज बनाए गए हैं. जिला जज रैंक के न्यायिक अधिकारी मोहम्मद असलम, अनिल कुमार ओझा, साधना रानी ठाकुर, नवीन श्रीवास्तव, सैयद आफताब हुसैन रिजवी, अनिल त्यागी और अजय कुमार श्रीवास्तव प्रथम एडिशनल जज नियुक्त किए गए हैं.

साधना रानी ठाकुर, सैयद आफताब हुसैन रिजवी व अजय कुमार श्रीवास्तव प्रथम का कार्यकाल शपथ लेने से 2 साल के लिए होगा, जबकि मोहम्मद असलम 14 जनवरी 2023 तक, अनिल कुमार ओझा 1 जुलाई 2022 तक, नवीन श्रीवास्तव 19 दिसंबर 2021 तक और अजय कुमार त्यागी 31 दिसंबर 2022 तक हाई कोर्ट के एडिशनल जज के पद पर कार्यरत रहेंगे. मिनिस्ट्री ऑफ लॉ एंड जस्टिस की ओर से एडीशनल जजों की नियुक्ति की अधिसूचना जारी की गई है.

सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) कॉलेजियम ने 11 जजों के नाम केंद्र सरकार (Central Government)को भेजे थे, जिनमें से 7 जजों को हाई कोर्ट का एडिशनल जज नियुक्त किया गया है. गौरतलब है कि इलाहाबाद हाईकोर्ट में मौजूदा समय में 95 जज कार्यरत हैं. जिनमें इलाहाबाद हाईकोर्ट की प्रधान पीठ में 65 और लखनऊ (Lucknow) बेंच में 30 जज कार्यरत हैं. इस तरह से हाईकोर्ट को 7 नए जज मिलने से जजों की संख्या बढ़कर 102 हो जाएगी. जबकि इलाहाबाद हाईकोर्ट में चीफ जस्टिस को छोड़कर जजों के कुल 160 पद स्वीकृत हैं. इस तरह से हाईकोर्ट को 7 नये एडिशनल जज मिलने के बाद भी जजों के 58 पद रिक्त रहेंगे.

Please share this news