Thursday , 15 April 2021

गेहूं घोटाले में मामा के बाद भांजा भी गए जेल

भोपाल (Bhopal) . प्रदेश के ग्वालियर (Gwalior) ‎जिले में करोडों की कीमत के गरीबों के गेहूं को ठिकाने लगाने वाले मामा के बाद अब भांजा को भी जेल की हवा खानी पड गई है. ‎जिले में तीन करोड़ से अधिक के गरीबों के गेहूं घोटाले के मुख्य आरोपित राहुल अग्रवाल की शुक्रवार (Friday) को रिमांड अवधि समाप्त होने पर कोर्ट में पेश किया गया. आरोपित को न्यायालय के आदेश पर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया. राहुल के मामा मुन्नालाल अग्रवाल को पुलिस (Police) पहले ही पकड़कर जेल भेज चुकी है.

झांसी रोड थाना प्रभारी पंकज त्यागी ने बताया कि राहुल को पकड़ने के बाद पहले उसे तीन दिन के रिमांड पर लिया गया था. उसके बाद एक दिन का रिमांड और लिया था. शुक्रवार (Friday) को रिमांड अवधि पूरी होने पर उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया. पुलिस (Police) रिमांड के दौरान आरोपित की सुरागदेही पर घोटाले से जुड़े कुछ दस्तावेज ही बरामद कर पाई है. आरोपित से घोटाले का गेहूं किन व्यापारियों का बेचा? इस सवाल पर आरोपित पुलिस (Police) को एक ही जवाब दे रहा है कि पूरा काम उसका भाई रिक्की व उसका साथी राज देखता था. इन लोगों ने क्या काला-पीला किया है, उसे नहीं मालूम. इसी तरह आरोपित के मामा मुन्नालाल अग्रवाल निवासी मुरैना भी पुलिस (Police) से यह कहकर पूछताछ से बचता रहा कि उसने ट्रांसपोर्ट के कागज दिए थे. गेहूं घोटाले के संबंध में उसे कोई जानकारी नहीं है. सबकुछ राहुल ही करता था. पुलिस (Police) का दावा है कि रिक्की व राज के पकड़ में आने के बाद गेहूं घोटाले से जुड़े सभी सवालों का जवाब मिल सकता है. पुलिस (Police) इस मामले में आरोपी रिक्की व उसके साथी राज को तलाश कर रही है, ता‎कि घोटाले में जुडे अन्य सुराग उजागर हो सके.

Please share this news