Tuesday , 15 June 2021

दादी ने तंबाकू सेवन से मना किया तो 9 साल की बच्ची ने फांसी लगाकर दे दी जान

सरगुजा . छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में तंबाकू मुक्ति का अभियान के बीच सरगुजा जिले 9 साल की एक बच्ची ने तंबाकू-गुटखा खाने से मना करने पर फांसी लगाकर जान दे दी. बच्ची इस बात से आहत थी कि उसकी दादी ने उसे तंबाकू या गुटखा खाने से मना किया था. दादी की यह सलाह बच्ची को नागवार गुजरी और उसने घर के पीछे ही बांस के म्यार में दुपट्टे को फंदा बनाकर अपनी जान दे दी. बच्ची के आत्मघाती कदम उठाने से उसके परिजन सदमे में हैं, वहीं पुलिस (Police) और स्थानीय लोग हैरान हैं.

सीतापुर थाने के प्रभारी रूपेश नारंग ने बताया कि भिठुआ ग्राम पंचायत में 9 साल की बच्ची ने घर के पीछे के हिस्से में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. मामले की जानकारी के बाद पुलिस (Police) ने बालिका के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. बच्ची की दादी ने थाने में बयान दिया कि उसकी 9 साल की नातिन तंबाकू, गुटखा आदि का सेवन करती थी. बीते दिनों नातिन को तंबाकू-गुटखा न खाने की सलाह दी थी. इससे आहत होकर उसने फांसी लगा ली. बच्ची की दादी के बयान के आधार पर पुलिस (Police) ने मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू कर दी है. गौरतलब है कि सरगुजा को एक अप्रैल से तंबाकू मुक्त जिला बनाने का इन दिनों अभियान चल रहा है. कलेक्टर (Collector) और स्वास्थ्य विभाग लगातार जागरूकता अभियान चलाकर लोगों को तंबाकू सेवन से होने वाले खतरों के बारे में आगाह कर रहे हैं, लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में इस अभियान का असर नहीं दिख रहा.

Please share this news