Monday , 28 September 2020

यूपी में कोरोना से 71 और मौतें आंकड़ा 3762 पहुंचा


लखनऊ (Lucknow) . उप्र में पिछले 24 घंटो में 71 कोविड-19 (Covid-19) संक्रमित रोगियों की मौत के साथ आंकड़ा बढ़ कर 3762 पहुंच गया है. वहीं 6193 नये मामलो के साथ राज्य में कुल रोगियों की संख्या दो लाख 53 हजार 175 पहुंच गयी है. फिलहाल कोरोना मरीजों की रिकवरी रेट 75.37 प्रतिशत है.

अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने शुक्रवार (Friday) को बताया कि कि पिछले 24 घंटे में 6193 कोविड-19 (Covid-19) के नये मामले सामने आये है. इस समय सक्रिय संक्रमित रोगियों की संख्या 58 हजार 595 है जबकि एक लाख 90 हजार 818 रोगी ठीक हो चुके है. उन्होंने बताया कि कुल एक्टिव केस में से 30 हजार 84 मरीज होम आइसोलेशन में रहकर स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं. राज्य में अभी तक एक लाख 15 हजार 194 लोग होम आइसोलेशन में गए, जिनमें से 85 हजार 110 की समय अवधि खत्म हो चुकी है. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में 3762 लोगों की कोरोना के कारण मौत हुई है और केस फैटालिटी रेट 1.48 प्रतिशत है, जो राष्ट्रीय औसत से कम है.

अपर मुख्य सचिव ने बताया कि उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में गुरुवार (Thursday) को एक लाख 46 हजार 601 सैंपल्स की जांच की गई. राज्य में अभी तक 61 लाख 96 हजार 994 कोरोना नमूनों की जांच की जा चुकी है, जो देश में किसी राज्य द्वारा की गई सबसे अधिक टेस्टिंग है. उन्होंने कहा कि हम लगातार ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग कर रहे हैं और जल्दी ही प्रतिदिन टेस्टिंग का आंकड़ा डेढ़ लाख को पार कर जाएगा. बृहस्पतिवार तक प्रदेश के कानपुर (Kanpur) में 456 रोगी, लखनऊ (Lucknow) में 392, वाराणसी में 173, प्रयागराज (Prayagraj)में 171,मेरठ (Meerut) में 142, बरेली में 121 और आगरा (Agra) में 108 रोगियों की मौत हो चुकी है.

वहीं अपर मुख्य सचिव सूचना, गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने कहा कि मुख्यमंत्री (Chief Minister) योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि जनपद लखनऊ (Lucknow), कानपुर (Kanpur) नगर, वाराणसी, प्रयागराज (Prayagraj)तथा गोरखपुर में कोविड-19 (Covid-19) के संक्रमण को रोकने के लिए विशेष प्रयास किए जाएं. मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने निर्देश दिये है कि कारागारों में कोविड-19 (Covid-19) के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जाएं. जेल कर्मियों की भी नियमित जांच की जाए. कैदियों को जेल भेजने से पहले अस्थायी जेल में रखा जाए. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री (Chief Minister) योगी ने कहा है कि कोविड-19 (Covid-19) के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए डोर-टू-डोर सर्वे, काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा मेडिकल परीक्षण के कार्य प्रभावी ढंग से संचालित किए जाएं. उन्होंने आईसीयू बिस्तरों की संख्या में वृद्धि के लिए विशेष प्रयास करने के निर्देश भी दिए हैं.