Friday , 14 May 2021

नोएडा और ग्रेटर नोएडा में भूमाफियाओं की शामत, 7 दिन में दर्ज हुईं 50 एफआईआर

नोएडा (Noida) . वर्षों से नोएडा (Noida) और ग्रेटर नोएडा (Noida) में सरकारी ज़मीन पर कब्जा किए बैठे भूमाफियाओं के खिलाफ पुलिस (Police) और प्रशासन ने अभियान छेड़ दिया है. सिर्फ 7 दिन में ही रिकॉर्ड 50 एफआईआर (First Information Report) भूमाफियाओं के खिलाफ अलग-अलग थानों में दर्ज कराई गई हैं. हाल ही में डीएम गौतमबुद्ध नगर ने रक्षा मंत्रालय की 161 एकड़ ज़मीन पर से 70 साल पुराने कब्जे को खाली कराया है. साथ ही दूसरी ज़मीनों पर भी हुए कब्जों को लेकर सिंचाई विभाग ने जांच की. जांच के बाद ही सिंचाई विभाग ने ग्रेटर नोएडा (Noida) के अलग-अलग थानों में 49 और नोएडा (Noida) के थाने में एक एफआईआर (First Information Report) दर्ज कराई गई है.

जानकारों का कहना है कि इस पूरे मामले में डीएम सुहास एलवाई ने रिपोर्ट लेते हुए पुलिस (Police) अफसरों से केस दर्ज कराने की बात कही थी. इसके बाद एक्सप्रेस-वे कोतवाली में 21, बिसरख कोतवाली में 10, इकोटेक-3 कोतवाली में 7, इकोटेक-1 कोतवाली में 5, दनकौर में 3, नॉलेज पार्क में 2, कासना और सेक्टर-39 में एक-एक एफआईआर (First Information Report) दर्ज हुई है. गौतमबुद्ध नगर के पुलिस (Police) कमिश्नर आलोक सिंह और डीएम सुहास एलवाई का कहना है कि भूमाफिया को चिह्नित किया जा रहा है. इसके बाद उनके खिलाफ भूमाफिया और गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी. पुलिस (Police) कमिश्नर का कहना है कि शिकायतों के आधार पर 50 मामले दर्ज करके भूमाफिया और अवैध कालोनाइजर पर गैंगस्टर एक्ट व भूमाफिया अधिनियम के तहत कार्रवाई की जा रही है.

Please share this news