Wednesday , 16 June 2021

राजधानी में एक दिन मिले 345 कोरोना संक्रमित

भोपाल (Bhopal) . कोरोना (Corona virus) का संक्रमण राजधानी में एक बार फिर बेकाबू होता दिखाई दे रहा है. शहर में एक ‎दिन की जांच में अब तक के सबसे ज्यादा मरीज ‎मिले हैं. शुक्रवार (Friday) को एक दिन की जांच में 345 संक्रमित मिले हैं. ये मरीज केवल 2486 सैंपलों की जांच में मिले हैं. इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि जांच का दायरा बढ़ा तो संक्रमितों की संख्या कई गुना (guna) बढ़ जाएगी.

भोपाल (Bhopal) में इससे पहले बीते साल नबंवर में 400 से अधिक संक्रमित मिले थे. वहीं प्रदेश में गुरुवार (Thursday) को हुई सैंपलिंग में 1140 संक्रमित मिले हैं, जो बीते चार माह में सर्वाधिक हैं. तेजी से संक्रमण फैलने की वजह लापरवाही है. प्रशासन की ढिलाई के चलते लोग बढ़ते संक्रमण के बाद भी मास्क नहीं लगा रहे हैं और न ही सुरक्षित शरीरिक दूरी का पालन कर रहे हैं. बाजारों में भीड़ बढ़ने के बाद भी गाइडलाइन का पालन नहीं किया जा रहा है. भोपाल (Bhopal) सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी ने बताया कि शुक्रवार (Friday) को भोपाल (Bhopal) के सभी केंद्रों पर सैंपलिंग बढ़ा दी थी. शाम तक 2486 सैंपल लिए गए थे. इनकी जांच रिपोर्ट देर रात को आ गई है, इनमें 345 संक्रमित मिले हैं. उसके पूर्व गुरुवार (Thursday) को 272 और बुधवार (Wednesday) को 184 संक्रमित मिले थे. जांच बढ़ते ही संक्रमितों की संख्या में 12 दिन से लगातार बढ़ोतरी हो रही है. कोरोना संक्रमण से गुरुवार (Thursday) को सात मरीजों की मौत हुई है.

मप्र स्वास्थ्य विभाग द्वारा शुक्रवार (Friday) को जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार ये मौतें भोपाल (Bhopal) , छिंदवाड़ा, ग्वालियर (Gwalior), खंडवा, शाजापुर, उज्जैन और उमरिया में हुई हैं. इधर, प्रदेश में मिले 1140 संक्रमितों का आंकड़ा भी बीते चार माह में सर्वाधिक है. सबसे अधिक इंदौर (Indore) में 309, जबलपुर (Jabalpur)में 97, ग्वालियर (Gwalior) व रतलाम में 39-39 संक्रमित मिले हैं. वहीं 52 जिलों में आगर मालवा, डिंडौरी, होशंगाबाद, निवाड़ी ऐसे हैं जहां एक भी संक्रमित नहीं मिला है. प्रदेश में गुरुवार (Thursday) को 24 हजार सैंपल लिए थे इनमें से 20 हजार सैंपलों की जांच की गई है.

Please share this news