Saturday , 15 May 2021

नॉर्वे में कोरोना वैक्सीन लगने के बाद 29 लोगों की मौत

नई दिल्ली (New Delhi) . पूरी दुनिया में कोरोना (Corona virus) को खत्म करने के लिए टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है, कई देशों में वैक्सीन को मंजूरी मिल गई है और लोगों में टीके लगने शुरू हो गए हैं लेकिन नॉर्वे में टीका लगने के बाद मरने वालों की संख्या 29 हो गई. 75 लोग वैक्सीन लगने के बाद गंभीर हालत में हैं. पिछले साल 27 दिसंबर को टीकाकरण अभियान शुरू होने के बाद से देश में 25,000 से अधिक लोगों को टीका लगाया है.

बता दें कि ज्यादातर खतरा 80 साल से ऊपर के वर्ग को था. लेकिन ताजा मौत के आंकड़ों को देखते हुए इशे 75 कर दिया गया और यह भी सवाल उठाया कि राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम में किन समूहों को टीका लगाना है. नॉर्वेजियन मेडिसिन द्वारा बनाया गया कोविड -19 टीका नॉर्वे में उपलब्ध एकमात्र वैक्सीन है और सभी मौतों को इसके साथ जोड़कर देखा जा रहाहै. नॉर्वे में जिन लोगों की मौत हुई है, उन्होंने वैक्सीन की पहली ही डोज ली थी, जिसके बाद उनकी तबीयत बिगड़ गई. सरकार का कहना है कि जो लोग बीमार हैं और बुजुर्ग हैं, उनके लिए वैक्सीनेशन काफी रिस्क भरा हो सकता है. मरने वाले 29 लोगों में से 13 लोगों की वैक्सीन से ही मरने की पुष्टि हो चुकी है, जबकि अन्य की मौत के मामले में जांच चल रही है.

नॉर्वेयिन मेडिसिन एजेंसी के अनुसार, 13 का अब तक परिणाम सामने आया है, जिसमें बताया गया है कि सामान्य दुष्प्रभाव ने बीमार, बुजुर्ग लोगों में गंभीर रिएक्शन किया है. 16 लोगों की जांच के परिणाम के आने का इंतजार है. नॉर्वेयिन इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक हेल्थ का कहना है कि जो काफी बुजुर्ग हैं और लगता है कि उनकी जिंदगी का कुछ ही वक्त बचा है, तो ऐसे लोगों को वैक्सीन का लाभ शायद ही मिले या फिर अगर मिले भी तो काफी कम मिलने की संभावना है. वहीं, वैक्सीन से साइड इफेक्ट के 29 मामले सामने आ चुके हैं. ज्यादातर लोगों में देखा जा रहा दुष्प्रभाव मतली और उल्टी, बुखार आदि है जिससे से उनकी स्थिति बिगड़ती जा रही है.

Please share this news