Saturday , 8 May 2021

हेमंत सोरेन ने सोनिया गांधी से मुलाकात की

रांची (Ranchi) . झारखंड में ‘ऑपरेशन कमल’ और कांग्रेस-जेएमएम के कुछ विधायकों के बीजेपी से संपर्क में रहने की खबरों के बीच मुख्यमंत्री (Chief Minister) हेमंत सोरेन ने सोमवार (Monday) को नई दिल्ली (New Delhi) में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की. इस मुलाकात के बाद हेमंत सोरेन ने पत्रकारों से बातचीत में सरकार पर किसी भी तरह के संकट की खबरों को पूरी तरह से बेबुनियाद बताया और दावा किया कि जेएमएम-कांग्रेस-झामुमो अपने पांच वर्षां का कार्यकाल पूरा करेगी.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) हेमंत सोरेन ने नई दिल्ली (New Delhi) में सोमवार (Monday) सुबह प्रदेश कांग्रेस प्रभारी आरपीएन सिंह और राज्यसभा सांसद (Member of parliament) धीरज प्रसाद साहू के साथ कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर जाकर मुलकात की. बाद में पत्रकारों से बातचीत में हेमंत सोरेन ने कहा कि करीब एक साल बाद वे दिल्ली आये है, इस दौरान सोनिया गांधी से शिष्टाचार मुलाकात हुई और झारखंड सरकार द्वारा साल भर में किये गये कार्यां की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमणकाल और देशव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) के बीच ही झारखंड में विकास कार्यां को गति प्रदान की. जेएमएम और कांग्रेस के कुछ विधायकों के भाजपा से संपर्क और ऑपरेशन कमल के संबंध में पूछे गये प्रश्न पर मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है और इस तरह की चर्चा में कोई सच्चाई नहीं है.

हेमंत सोरेन ने कहा कि केंद्र सरकार (Central Government)द्वारा जिस तरह से गैर भाजपा शासित राज्यों के साथ व्यवहार किया जा रहा है, उसके कारण मामला उच्चतम न्यायालय में भी चला गया है. उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी (Epidemic) के बीच पूरी तरह से देश को उलझा कर रखा दिया गया है, आज देश में कोई भी ऐसा नहीं होगा, जो शांति से यह निर्भीक होकर जीवन व्यतीत कर रहा होगा.

इस मौके पर कांग्रेस प्रभारी आरपीएन सिंह ने कहा कि गठबंधन सरकार चलती है, तो सहयोगी दल के विधायक अपनी-अपनी मांग और बात रखते है, इसे नाराजगी के तौर पर नहीं लिया जाना चाहिए, सभी को अपनी बात रखने का अधिकार है और सरकार उनके सुझावों पर अमल करती है. उन्होंने कहा कि चुनाव के वक्त गठबंधन सरकार की ओर से जो वायदा किया गया था, उसे पूरा किया जाएगा. उन्होंने कहा कि झारखंड में भी कांग्रेस पार्टी ने किसानों के समर्थन में पिछले दिनों एक बड़ी रैली और राजभवन मार्च किया, जिसमें वे खुद भी शामिल हुए थे. कांग्रेस पार्टी किसानों के हित के लिए सड़क से लेकर सदन तक लड़ाई जारी रखेगी.

Please share this news