Friday , 25 June 2021

स्ट्रीट फूड के शौकीन अब घर बैठे ही उठा सकते हैं लजीज व्यंजनों का आनंद

गाजियाबाद (Ghaziabad) . दिल्ली-एनसीआर के गाजियाबाद (Ghaziabad) में रहने वाले सड़क पर खाने का लुत्फ उटाने के शौकीनों के लिए अच्छी खबर है. अब गाजियाबाद (Ghaziabad) में रहने वाले लोग भी जोमैटो और स्विगी की तरफ स्ट्रीट फूड की होम डिलिवरी का आनंद उठा सकेंगे. बता दें कि दिल्ली-एनसीआर में खाने-पीने की चीजों की होम डिलिवरी की सबसे बड़ी दिक्कत यह है कि सिर्फ जाने-माने रेस्टोरेंट या फूड आउटलेट्स से ही खाना मंगाया जा सकता है. आपके पसंदीदा स्ट्रीट फूड की होम डिलिवरी नहीं हो पाती है और आपको ठेले और रेड़ी पर जा कर ही अपना मनपसंद व्यंजन का स्वाद लेना पड़ता है. फूड डिलिवरी वाले जोमैटो और स्विगी जैसे ऐप भी इस समस्या का समाधान पूरी तरह से नहीं कर पाए हैं, लेकिन अब गाजियाबाद (Ghaziabad) में इस समस्या का समाधान होने वाला है.

गाजियाबाद (Ghaziabad) के जिला नगरीय विकस अभिकरण यानी डूडा ने स्ट्रीट फूड की होम डिलिवरी कराने की योजना पर काम शुरू कर दिया है. इसके तहत योजना यह बनाई गई है कि स्ट्रीट फूड बेचने वालों का पंजीकरण कराया जाएगा और फिर उन्हें जाने-माने फूड डिलिवरी ऐप से जोड़ा जाएगा ताकि उनके खाने की होम डिलिवरी सुनिश्चित हो सके.

गाजियाबाद (Ghaziabad) में स्ट्रीट फूड बेचने वाले तकरीबन 45 ठेलों का पंजीकरण अब तक डूडा ने कर लिया है. डूडा की योजना के तहत ऐसे 100 ठेलों का पंजीयन करना है. आम तौर पर जाने-माने ऑनलाइन फूड डिलिवरी ऐप पर पंजीयन कराने के लिए 1,500 रुपये खर्च करने पड़ते हैं, लेकिन डूडा ने स्ट्रीटफुड बेचने वालों को इस तरह के ऐप से जुड़ने के लिए प्रोत्साहित करने के मकसद से यह निर्णय लिया है कि इस योजना के तहत शामिल होने वाले स्ट्रीट फूड विक्रेताओं को अपने पास से कोई शुल्क नहीं देना होगा. यह खर्च डूडा खुद उठाएगा. इस योजना का लाभ उठाने के लिए इच्छुक स्ट्रीट फूड विक्रेता को डूडा कार्यालय में अपना आवेदन देना होगा. डूडा ने आम तौर पर उन विक्रेताओं को लक्षित किया जा रहा है, जिनकी रोजी-रोटी पर कोरोना काल में हुए लॉकडाउन (Lockdown) पर बहुत बुरा असर पड़ा. ऐसे लोगों को प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के तहत 10,000 रुपये का लोन दिलाने का काम डूडा की ओर से किया जा रहा है, ताकि ऐसे लोग फिर से अपना रोजगार खड़ा कर सकें और बेहतर ढंग से जीवन यापन कर सकें.

Please share this news