Friday , 14 May 2021

सीआरपीएफ जवान की पत्नि से धोखाधडी करने वाले बंटी-बब्ली चंडीगढ मे भी नहीं मिले

भोपाल (Bhopal) . राजधानी के बंगरसिया इलाके में सीआरपीएफ (Central Reserve Police Force) जवान की पत्नि के साथ लाखों रुपये की धोखाधडी कर फरार दंपती का एक माह बाद भी पुलिस (Police) को कोई सुराग नहीं मिला है. पीडि़त महिला का पति फ‍िलहाल जम्मू-कश्मीर में पदस्थ हैं.

जानकारी के अनुसार पुलिस (Police) टीम आरोपियोको छानबीन के दौरान दंपत्ति की लोकेशन चंडीगढ़ (Chandigarh) में मिली थी, जिसके बाद पुलिस (Police) की टीम रवाना की गई. चंडीगढ पहुची पुलिस (Police) पार्टी ने उनकी तलाश में पंजाब (Punjab) और हरियाणा (Haryana) में कई जगह दबिश दी, लेकिन कोई सफलता हाथ नहीं लगी ओर पुलिस (Police) पार्टी खाली हाथ वापस लौट आई है. जानकारी के अनुसार कीर्ति बराडे पति संदीप बराडे (37) बंगरसिया में रहती हैं.

कीर्ति ने अपनी शिकायत मे बताया था कि उनके बच्चे कटारा हिल्स में स्थित सेंट फ्रांसिस स्कूल में पढ़ते थे. स्कूल में बच्चों की दोस्ती आरोपी तुषार मलिक के बच्चों से हो गई थी. बाद में तुषार और उसकी पत्नी सोना (Gold)ली मलिक ने कीर्ति के घर पर आना-जाना शुरू कर दिया था. इसी दौरान दंपती ने महिला को अपने झांसे में लेते हुए कहा कि कहा की वो उनकी काफी उपर तक जान पहचान है, जिसके आधार पर वो उसे एक पेट्रांल पंप खुलवा सकते हैं, लेकिन उसके लिए पैसे खर्च करना होंगे. उनकी झांसे मे आकर महिला ने जालसाज दंपती को दो साल में करीब 32 लाख 85 हजार रुपये की रकम दे दी थी. लेकिन आरोपी दंपती ने उन्हें न तो पेट्रोल (Petrol) पंप नहीं खुलवाया और न ही उनके मांगने पर काफी समय तक उनकी रकम वापस लौटाई. परेशान होकर महिला ने मामले की शिकायत पुलिस (Police) के आला अफसरों से की थी. आवेदन की जांच के बाद पुलिस (Police) ने जालसाज दंपती के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया था. पुलिस (Police) ने बताया कि शातिर दंपती ने लोगों को अपने जाल मे फसांने के लिए बंगला किराए पर ले रखा था. ओर बड़े अफसरों और नेताओं से अपनी जान पहचान होने का बताकर लोगों से धोखाधडी करते थे.

Please share this news