Friday , 27 November 2020

विद्युत विभाग उपभोक्ताओं को फ्यूल चार्ज के नाम लगाने जा रहा करंट


जयपुर (jaipur) . विद्युत विभाग कोरोना काल में सरकार (Government) द्वारा किए गए इंतजामों में खर्च हुई बड़ी रकम को फ्यूल चार्ज के जरिए जुटाने की मशक्कत में लगा है इसके लिए अगले तीन महीने में विद्युत उपभोक्ताओं को फ्यूल चार्ज के नाम बड़ा करंट लगाने वाला है. बिजली उपभोक्ताओं के अगले 3 महीने के बिजली के बिलों में बढ़ोतरी होने जा रही है यह बढ़ोतरी फ्यूल सरचार्ज के नाम से की जाएगी प्रदेश के जयपुर (jaipur), जोधपुर और अजमेर डिस्कॉम फ्यूल सरचार्ज के जरिए उपभोक्ताओं से लगभग 600 करोड़ रुपयों की वसूली करेंगे.

बताया जा रहा है कि इसके चलते प्रत्येक बिजली उपभोक्ता पर उसकी बिजली की खपत के अनुसार अगले 3 महीने लगभग 200 से 800 तक का आर्थिक भार आएगा. तीनों डिस्कॉम उपभोक्ताओं से बीते साल अक्टूबर 2019 से दिसंबर 2019 तक के बीच बिजली की मीटर रीडिंग के आधार पर 30 पैसे प्रति यूनिट के हिसाब से फ्यूल सरचार्ज की वसूली करेगी. दरअसल, विद्युत विनियामक आयोग हर साल बिजली खरीद समेत अन्य खर्च की गणना के बाद दर तय करता है. इसमें आयोग फिक्स कॉस्ट के साथ में वेरिएबल कॉस्ट के रूप में बिजली टैरिफ का निर्धारण करता है.

इस वैरिएबल कॉस्ट में डीजल परिवहन और कोयला समेत अन्य खर्च शामिल होते है इसकी वसूली नियामक आयोग ने उपभोक्ताओं से करने के निर्देश दिए है. इसकी शुरुआत वर्ष 2009 में की गई थी. फ्यूल सरचार्ज की गणना हर 3 महीने में बदल जाती है. उल्लेखनीय है कि कोरोना काल में राज्य सरकार (Government) ने प्रदेश की जनता को राहत देने के लिये पहले दो महीने के बिजली के बिल स्थगित किये थे. इससे उपभोक्ताओं को आंशिक राहत मिली थी. लेकिन कोरोना का दौर अभी समाप्त नहीं हुआ है. ऐसे में डिस्कॉम द्वारा वसूल की जाने वाली यह राशि उपभोक्ताओं पर भारी पडऩे वाली है.