Monday , 10 May 2021

राजधानी में नहीं रुक रही वाहनों की चोरी

भोपाल (Bhopal) . प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal) में वाहन चोरी की वारदात नहीं रुक रही हैं. ऐसा लग रहा है ‎कि वाहन चोर बेखौफ हो चुके हैं. उन्हें पुलिस (Police) का कोई खौफ नहीं रह गया है. यह वजह है कि करीब-करीब शहर के हर हिस्से से वाहन चोरी हो रहे हैं. पुलिस (Police) का मुखबिर तंत्र पूरी तरह फेल नजर आता है. शहर में वाहन चोरी का आलम यह है कि पहली बार राजधानी में डीआइजी को 72 वाहन चोरों पर पांच-पांच हजार रुपए का इनाम घोषित करना पड़ा है. यहां पर हम यह बता दें कि शहर के अलग- अलग हिस्सों से वर्ष 2020 में 1189 वाहन चोरी की वारदातें हुईं. हालांकि यह आंकड़ा 2019 और 2018 की तुलना में कम है, लेकिन इसे भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता कि हर दिन दो से ज्‍यादा वाहन चोरी हुए. इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि वाहन चोरों के हौसले कितने बुलंद हैं. शहर में वाहन चोर मौका लगते ही हाथ साफ कर रहे हैं.

वाहन चोरी की लगातार हो रही वारदातों से पुलिस (Police) की चौकसी और मुखबिर तंत्र पर सवाल खड़े हो रहे हैं कि आखिर पुलिस (Police) और क्राइम ब्रांच का भारीभरकम अमला कर क्या रहा है? शहर के पार्किंग स्थलों तक में वाहन सुरक्षित नहीं है. शहर में वाहन चोरों के हौसले इतने बुलंद हैं कि पार्किंग में खड़े वाहन भी चोरी हो रहे हैं. दुकानों और ऑफिस के बाहर से वाहन चोरी हो रहे हैं. ऐसा नहीं कि पुलिस (Police) को इन वाहन चोरी के सुराग नहीं मिल पा रहे हैं. पुलिस (Police) को सीसीटीवी फुटेज भी मिलते हैं, लेकिन इसके बावजूद पुलिस (Police) कई मामलों में वाहन चोरों तक नहीं पहुंच पाती.शहर के ‎जिन स्थानों से वाहन ज्यादा चोरी हो रहे उनमें पुराने शहर के इलाके कोहेफिजा, हनुमानगंज शा‎‎मिल है, वहीं पुराने शहर के इलाके ऐशबाग, टीटीनगर, पिपलानी, अयोध्या (Ayodhya) नगर, एमपीनगर, अशोका गार्डन, बागसेवनिया शा‎मिल है.

Please share this news