Friday , 26 February 2021

योगी सरकार के फैसले के खिलाफ हाई कोर्ट पहुंचा बंगाली समुदाय


नई दिल्ली (New Delhi) . उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री (Chief Minister) योगी आदित्यनाथ ने कोरोना महामारी (Epidemic) को देखते हुए दुर्गापूजा के मौके पर होने वाले आयोजनों पर रोक लगा दी थी. उन्होंने कहा था कि लोग अपने घरों में मूर्तियां स्थापित कर पूजा पाठ करें. सरकार (Government) के इस आदेश के खिलाफ प्रयागराज (Prayagraj)में बंगाली समुदाय के लोग हाई कोर्ट पहुंच गए. प्रयागराज (Prayagraj)के बंगाली वेलफेयर एशोसिएशन ने इलाहाबाद हाई कोर्ट में इसके लिए पीआईएल दाखिल की.

हालांकि हाई कोर्ट ने पीआईएल को खारिज कर दिया और इस मामले में किसी भी हस्तक्षेप से इनकार कर दिया. इस याचिका में प्रयागराज (Prayagraj)शहर में सार्वजनिक तौर पर दुर्गापूजा के आयोजन के लिए छूट मांगी गई थी. हाई कोर्ट ने कहा कि अपीलकर्ता को जिला न्यायालय जाना चाहिए, न कि सीधे हाई कोर्ट. साथ ही कोर्ट ने ये भी कहा कि स्थानीय प्रशासन केंद्र सरकार (Government) के दिशा-निर्देशों के तहत फैसला लेने के लिए स्वतंत्र है. हालांकि जिला न्यायालय कोरोना गाइडलाइन्स को ध्यान में रखते हुए कार्यक्रमों के आयोजन पर फैसला दे सकती है.

Please share this news