Monday , 18 January 2021

युवावस्था में खराब हुए कुल्हे का प्रत्यारोपण


उदयपुर (Udaipur). बेडवास स्थित जीबीएच जनरल हॉस्पिटल में युवक का कुल्हा रिप्लेसमेंट किया गया. यह एवीएन हिप नामक बीमारी के कारण खराब हुआ था, जो आमतौर पर स्टीरोइड या शराब का सेवन करने या फिर चोटग्रस्त होने के कारण होती है.

बेडवास स्थित जीबीएच जनरल हॉस्पिटल के हड्डी एवं जोड़ प्रत्यारोपण विभाग में डॉ. सूर्यकांत पुरोहित के पास पिछले दिनों एक युवक को परिजन लेकर पहुंचे थे. युवक ठीक से चल भी नहीं पा रहा था. इस पर उसकी एमआआई व अन्य जांचें कराई गई. इसमें पता चला कि युवक के दोनों कुल्हें खराब हो चुके है, जिसमें से एक को बदलना ही विकल्प है. ग्रुप डायरेक्टर डॉ. आनंद झा ने बताया कि इसे चिकित्सकीय भाषा में एवीएन कहा जाता है. कुल्हा प्रत्यारोपण के लिए डॉ. सूर्यकांत पुरोहित ने अत्याधुनिक तकनीक का उपयोग करते हुए अनसिमेंटेड हिप रिप्लसमेंट किया.

इसमें दिलचस्प बात यह रही कि कुल्हा खराब होने के कारण युवक का एक पैर चार सेंटीमीटर छोटा हो गया था, उसे भी ऑपरेशन के साथ बराबर किया गया. डिस्चार्ज के समय युवक चलते हुए घर गया. इस ऑपरेशन में डॉ. सूर्यकांत के साथ डॉ. सौरभ अग्रवाल, डॉ. अमन और निश्चेतना विभाग से डॉ. पियूष गर्ग की टीम का सहयोग रहा. डॉ. सूर्यकांत के अनुसार यह एवीएन हिप कम उम्र में अत्यधिक मात्रा में स्टीराइड व शराब का नशा करने के कारण होता है. कई बार चोटग्रस्त होने के कारण भी हड्डियां खराब होती है.

Please share this news