Friday , 16 April 2021

मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ तहसील इकाई बिरसा में आयोजित हुआ पत्रकार सम्मेलन

बालाघाट . मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) श्रमजीवी पत्रकार संघ तहसील इकाई बिरसा के तत्वाधान में श्रमजीवी पत्रकार सम्मेलन का आयोजन दिनांक 27 दिसंबर दिन रविवार (Sunday) को आयोजित किया गया. आयोजित पत्रकार सम्मेलन में मध्य प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ के जिला अध्यक्ष इंद्रजीत भोज का बैगा लोक नृत्य के साथ चार टोला क्लब मलाजखंड के सभा कक्ष ले जाया गया. तत्पश्चात् सभी मुख्य अतिथियों का पुष्प गुच्छ से स्वागत किया गया. ज्ञात हो कि विगत कुछ दिनो से म.प्र. श्रमजीवी पत्रकार संघ के प्रदेश अध्यक्ष शलभ भदौरिया के मार्गदर्शन में जिले की संपूर्ण तहसील इकाई में पत्रकार सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है.

कार्यक्रम में विशेष अतिथि के रूप में राजावत भारतीय मजदूर संघ के महासचिव, आनंद खोब्रागड़े प्राचार्य शसकीय महाविद्यालय मलाजखंड, ओमेंद्र बिसेन महासचिव श्रमजीवी पत्रकार संघ बालाघाट, मनीष चौकसे, पवन वेद्य, सलीम खान, अशोक रावत, विशाल महानंद, धुर्वे सरपंच जैराश्सी, अशफाक खान मौजूद रहे.
बालाघाट से मयूर वाहने, रजनीश राहंगडाले, संदीप माड़के, शेख अंसार, राहुल सोनी, शुभम मेश्राम, ज्ञानगिरी गोस्वामी, अशोक पटले, सिकंदर मिश्रा, सुधीर शर्मा, जाहिद खान, सुशील गणवीर आदि मौजूद रहे.
मलाजखंड से श्रमजीवी पत्रकार संघ के सदस्य संतोष बिसेन, निकेश झा, कादर अली, साधुराम निर्मलकर, संतोष धनेश्वर, देवदत्त महानंदा, दिलीप वासनिक, माधव यंगसे, झाम सिंह टेकाम, विकास लाहौरी, पारस गोलू ठाकरे, विपुलकांत राणा, यशवंत ठाकुर आदि मौजूद रहे.

हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड के सफाई कर्मीयों को किया गया सम्मानित

हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड के सफाई कर्मी दिलीप मलिक, रवि बोहत, मुकेश बोहत, सोनू बोहत, घनश्याम लहरिया, सोनू नाथ, मुकेश नखाई, राकेश चुटियाल, राकेश बोहत, राजेश बोहत, ज्योति बोहत, अर्चना बोहत, उमा बोहत, कविता डागौर, लक्ष्मी डागौर, सुमित्रा डागौर, रजिता बघेले एवं राकेश डगौर को मध्य प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ के जिला अध्यक्ष इंद्रजीत भोज एवं आनंद खोब्रागड़े प्राचार्य शसकीय महाविद्यालय मलाजखंड के द्वारा शॉल व श्रीफल देकर सम्मानित किया गया.

आपके काम से नहीं आपके नाम से पहचान होना चाहिए: भोज

भोज ने कहा कि मैंने खैरी ब्लास्ट की घटना का कवरेज किया था घटना में 26 लोगों की दर्दनाक मौत के सरदार बच गए. कुछ लोग नपे भी. किंतु मेरी अंतरात्मा से लिखी लेखनी मृतकों के प्रति सच्ची श्रृद्धांजलि थी.
भोज ने कहा कि पत्रकार देश के आधारभूत ढांचे का चौथा स्तंभ है पत्रकार को निर्भिक, निष्पक्ष एवं मानवीय संवेदनाओं से परिपूर्ण होना चाहिए. वह जो लिखे उसका सामाजिक सरोकार हो. हमारा संघ नरमुंडों पर विश्वास नहीं करता. संगठन में योग्य, कर्मठ व प्रबुद्ध पत्रकार हो वही काफी है. हमारी कलम इतनी सशक्त होनी चाहिए कि हमारी लिखी खबर का असर जनमानस एवं अधिकारी वर्ग में गहराई तक हो. महज पत्रकारिता का कार्ड होना या सदस्य बन जाना पत्रकारिता नहीं है. पत्रकार की कलम में जनमानस की सशक्त आवाज व सेवा खबरों में झलकनी चाहिए.

Please share this news