Tuesday , 29 September 2020

भरतपुर अस्पताल से किडनी हुई चोरी, पुलिस पहुंचा मामला

भरतपुर . राजस्थान (Rajasthan) के भरतपुर में कथित किडनी चोरी का मामला थाने पहुंच गया है. दरअसल, सेवर थाना इलाके के इस मामले में किडनी चोरी के आरोपों से सकते में आये प्राइवेट अस्पताल के संचालक डॉ. विजयपाल सिंह ने अब कानून की शरण ली है. उन्होंने कहा कि कामां निवासी व्यक्ति सड़क हादसे में घायल हो गया था, जिसे उनके अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

इलाज के दौरान घायल की मौत हो गई थी और शव परिजनों को सौंप दिया गया था लेकिन अस्पताल को बदनाम करने की साजिश के तहत किडनी निकालने का झूठा आरोप लगाया गया है. अस्पताल के डॉ. सिंह ने कहा कि घायल शख्स का उनके अस्पताल में इलाज किया गया लेकिन कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई. इसके बाद उसका शव परिजनों को सौंप दिया गया और इस पूरी प्रक्रिया के सीसीटीवी फुटेज पुलिस (Police) को सौंप दिए हैं. किडनी निकालने के सभी आरोप सरासर गलत है. उन लोगों ने अस्पताल की छवि को खराब की है, जिनके खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है.

बता दें कि दो दिन पहले भरतपुर में सड़क हादसे में घायल एक व्यक्ति की निजी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गयी थी. जहां मृतक के परिजनों ने अस्पताल प्रबंधक पर शव से किडनी निकालने के आरोप लगाते हुए हंगामा खड़ा कर दिया था. जिसके बाद निजी अस्पताल प्रबंधक ने कहा कि उन्होंने किडनी निकालने का आरोप लगाने वाले लोगों के खिलाफ पुलिस (Police) में मामला दर्ज कराया है. इस पूरे मामले में अब शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर सबकी नजर है. पुलिस (Police) ने पोस्टमार्टम मेडिकल बोर्ड से कराया है जिसकी हालाँकि रिपोर्ट आना बाकी है.