Saturday , 15 May 2021

फ्लॉप शो न बन जाये इंटीमेट थिएटर

जबलपुर, 18 जनवरी . शहर में सांस्कृतिक गतिविधियों को बढ़ावा देने स्माट्र सिटी प्रोजेक्ट के तहत बनाई गई कल्चरल स्ट्रीट अतिक्रमणकारियों के शिकंजे में है. कल्चरल स्ट्रीट को नो व्हीकल जोन घोषित करने के बावजूद यहां धड़ल्लें से वाहन पार्क किये जा रहे हैं वहीं स्ट्रीट पर चाय पान वालों ने कब्जा कर लिया है. दो वर्ष पूर्व शहर की प्रतिभाओं को खुला मंच देने तथा सांस्कृतिक आयोजन के लिए कल्चरल स्ट्रीट का कराया गया था. स्ट्रीट से लगे भंवरताल गार्डन में भी 12 करोड़ की लागत से एक इंटीमेट थिएटर का निर्माण कराया गया है. जिसमें 400 दर्शकों की क्षमता है. स्मार्ट सिटी कल्चरल स्ट्रीट व इंटीमेट थिएटर पर साढ़े 13 करोड़ रुपये खर्च कर चुकी है. कल्चरल स्ट्रीट को सुरक्षित रखने रसल चौक से ब्लूम चौक आने वाले सड़क से भंवरताल की ओर जाने वाली रोड जहां यह बनी है के सामने बेरीकेड भी लगाया गया था. जिसका अब अता पता नहीं है.

भंवरताल के सामने वाली सड़क को नो व्हीकल जोन घोषित किया गया है. कल्चरल स्ट्रीट में एक करोड़ की लागत से कोवलस्टोन पैदल चलने वाले के लिए लगाए गए हैं. कल्चरल स्ट्रीट को फूड कोर्ट तक विस्तारित किया गया है. इस स्ट्रीट में शहर के कलाकार अपनी कला का प्रदर्शन कर सकें. इसे ध्यान में रखते हुए इसे तत्कालीन नगर निगम आयुक्त ने तैयार करवाया था. करोड़ों की लागत से बने इंटीमेट थिएटर के औचित्य पर सवाल उठ रहे हैं. अभी तक इसमें कार्यक्रम करवाने के लिए किसी संस्था ने रुचि नहीं दिखाई. इस थिएटर के कई काम अधूरे हैं. तत्कालीन मुख्यमंत्री (Chief Minister) कमलनाथ ने इसका उद्घाटन करवाया गया था. स्मार्ट सिटी के आय प्रोजेक्टर की तरह यह थिएटर भी महज फिजूल खर्ची न साबित हो.

Please share this news