Friday , 14 May 2021

पंजाब आकर कृषि कानूनों के फायदे बताएं हेमा मालिनी, खर्च हम उठाएंगे : किसान संगठन

नई दिल्‍ली . केंद्र सरकार (Central Government)के द्वारा लागू नए 3 कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर किसान संगठन 50 दिन से अधिक दिनों से दिल्‍ली की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे हैं. मंगलवार (Tuesday) को किसानों और सरकार के बीच 10वें दौर की वार्ता होनी है. इस बीच पंजाब (Punjab) के किसान संगठन किसान संघर्ष कमेटी (केकेएससी) ने मथुरा (Mathura) से भाजपा की सांसद (Member of parliament) हेमा मालिनी को पंजाब (Punjab) में आमंत्रित किया है. किसान संगठन का कहना है कि हेमा मालिनी पंजाब (Punjab) आएं और किसानों को केंद्र सरकार (Central Government)के तीनों कानूनों के फायदे बताएं.

किसान संगठन ने यह भी कहा है कि वो हेमा मालिनी के पंजाब (Punjab) आने की टिकट और फाइव स्‍टार होटल (Hotel) का एक हफ्ते का खर्च भी वहन करने को तैयार है. इस आमंत्रण के लिए किसान संगठन ने एक पत्र भी भेजा है. किसान संगठन का यह कदम हेमा मालिनी के एक बयान के बाद आया है. इसमें हेमा मालिनी ने कहा था कि किसान यह नहीं जानते कि उन्‍हें क्‍या चाहिए. उनके पास कोई एजेंडा नहीं है. वे विपक्ष के बहकावे में आ रहे हैं.

किसान संगठन केकेएससी के चेयरमैन भूपिंदर सिंह, उपाध्‍यक्ष जरनैली सिंह ने पत्र में लिखा है कि पंजाब (Punjab) में हेमामालिनी को भाभी के समान सम्‍मान दिया जाता है. भाभी मां के समान होती है. पंजाब (Punjab) में आपने चुनाव के दौरान खुद ही कहा था कि आप पंजाब (Punjab) की बहू हैं. हेमा मालिनी अभिनेता धर्मेंद्र की पत्‍नी हैं. धर्मेंद्र पंजाब (Punjab) से ताल्‍लुक रखते हैं. उनके बेटे सनी देओल गुरदासपुर से सांसद (Member of parliament) हैं.
पत्र में हेमा मालिनी को यह भी लिखा गया है, ‘अपनी फसल का उपयुक्‍त मूल्‍य पाने के लिए दिल्‍ली की सीमाओं पर 51 दिन से अधिक समय से आंदोलन कर रहे 100 से अधिक किसान अपनी जान गंवा चुके हैं. ऐसे में आपका बयान हर पंजाबी के लिए निराशाजनक है. किसान कठिन परिश्रम से अपनी फसल उगाता है.

Please share this news