Thursday , 13 May 2021

डुप्लेक्स बनाने के नाम पर बिल्डर ने रिटायर्ड भेल कर्मचारी को लगाई 35 लाख की चपत

भोपाल (Bhopal) . राजधानी के अवधपुरी थाना इलाके में रिटायर्ड भेल कर्मचारी के साथ बिल्डर द्वारा डुप्लेक्स बना कर देने के नाम पर 35 लाख रुपए कि चपत लगाने का मामला सामने आया है. बताया यगा हे कि करीब 5 साल बाद भी आरोपी बिल्डर ने ना तो डुप्लेक्स बना कर दिया और ना ही रकम वापस की जिसके बाद फरियादी ने इसकी लिखित शिकायत थाना पुलिस (Police) से की थी. जांच के आधार पर पुलिस (Police) ने जालसाज बिल्डर पक्ष खाबरा और उसके साथी योगेंद्र राजपूत के खिलाफ चार सौ बीसी सहित अन्य धाराओ के तहत मामला दर्ज करते हुए पक्ष खाबरा को गिरफ्तार कर लिया है. वही योगेंद्र कि तलाश की जा रही है.

थाना पुलिस (Police) के अनुसार फरियादी रिटायर्ड भेल कर्मचारी 64 वर्षीय साहबराव बरकर पुत्र स्वर्गीय कृष्णा राव बरकर ने शिकायती आवेदन देते हुए बताया कि वह भोपाल (Bhopal) में रहते हैं, और उन्होंने अर्चना होम कॉलोनी में एक डुप्लेक्स खरीदने का सौदा बिल्डर पक्ष खांबरा से किया था. इस सौदे में पक्ष खाबरा का साथी योगेंद्र राजपूत भी शामिल था. दोनों आरोपियों ने फरियादी को तय समय से पहले डुप्लेक्स बनाकर देने के नाम पर अलग-अलग समय में 35 लाख रुपए की रकम ले ली. इसके बाद उन्होंने पर फरयदादी को साल 2015 में डुप्लेक्स देने का एग्रीमेंट किया था.

फरियादी का आरोप है, कि पैसे लेने के बाद आरोपियों ने तय समय में डुप्लेक्स बनाकर नहीं दिया. बाद में जब उन्होंने अपनी रकम वापस मांगी तब आरोपियों ने किसी न किसी बहाने से टालते रहे और पैसे वापस नहीं दिए. आखिरकार परेशान होकर फरियादी साहबराव ने इसकी लिखित शिकायत थाना पुलिस (Police) से कर दी. शिकायत की जांच के आधार पर अवधपुरी पुलिस (Police) ने पक्ष खाबरा और योगेंद्र राजपूत के खिलाफ धोखाधड़ी, अमानत में खयानत और अपराधिक षडयंत्र रचने का मामला दर्ज करते हुए पक्ष खाबरा को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस (Police) फरार आरोपी की तलाश के साथ ही आगे की कार्यवाही में जुटी है.

Please share this news