Tuesday , 20 April 2021

टैबलेट सेगमेंट में 14.7 फीसदी बढ़ोतरी, ई-लर्निंग की वजह से बढ़ी मांग

नई दिल्ली (New Delhi) . भारत में कोरोना संकट की वजह से लोगों की निर्भरता आनलाइन क्लासेज यानी ई-लर्निंग पर बढ़ गई है. पिछले साल यानी 2020 में लोगों ने ऑफिस के काम के साथ बच्चों की पढ़ाई के वास्ते कंप्यूटर, टैबलेट के साथ ही स्मार्टफोन्स भी खूब खरीदारी की. आलम यह रहा कि भारत में बिक्री के मामले में टैबलेट सेगमेट में 14.7 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली. यह ग्रोथ काफी ज्यादा है.

पिछले साल सैमसंग ने टैबलेट सेगमेंट में सबसे ज्यादा ग्रोथ दर्ज कराई, वहीं ऐपल के iPad की भी बंपर बिक्री हुई. सैमसंग के टैबलेट की बिक्री में बीते साल 157 फीसदी की सालाना उछाल देखने को मिली. आईडीसी की हालिया रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2020 में इंडिया के टैबलेट मार्केट मं 14.7 फीसदी की उछाल देखने को मिली. दरअसल, पिछले साल कई कंपनियों ने भारत में अफॉर्डेबल यानी किफायती टैबलेट लॉन्च किए, जो लोगों की जेब पर बोझ नहीं बने और लोगों ने अपने बच्चों की पढ़ाई के वास्ते इसकी खरीदारी की, इस वजह से साल 2020 में कई कंपनियों के सस्ते-महंगे टैबलेट की बंपर खरीदारी हुई.

आईडीसी ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि ऑनलाइन क्लास यानी ई-लर्निंग पर जोर देने की वजह से लोगों ने अपने बच्चों के लिए टैबलेट खरीदे, क्योंकि स्मार्टफोन पर लंबे समय तक क्लास करना बच्चों के स्वास्थ्य के लिए सही नहीं है. आईडीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में बजट सेगमेंट के टैबलेट यानी 10 से 20 हजार रुपए के बीच के रेंज के टैबलेट की डिमांड काफी ज्यादा बढ़ी है और सन 2020 में इस सेगमेंट के टैबलेट की बिक्री में 70 फीसदी से ज्यादा की सालाना ग्रोथ देखने को मिली है. हालांकि, इन सबके बीच सैमसंग और ऐपल के प्रीमियम टैबलेट की भी अच्छी खासी बिक्री हुई. लोगों ने सैमसंग गैलेक्सी टैब एस6 लाइट और एप्पल के 10.2 इंच के आईपैड की खूब खरीदारी की.

Please share this news