Saturday , 26 September 2020

चीनी सेना ने कहा अगवा क‍िए गए पांच भारतीय उनके कब्जे में


नई दिल्ली (New Delhi) . केंद्रीय मंत्री किरेन रिजीजू ने कहा है कि चीनी सेना ने पुष्टि की है कि अरुणाचल प्रदेश से लापता हुए युवक उनकी तरफ से मिल गए हैं. रिजीजू ने ट्वीट किया, ‘चीन के पीपल्स लिबरेशन आर्मी ने भारतीय सेना द्वारा भेजे गए हॉटलाइन संदेश का जवाब दिया है. उन्होंने पुष्टि की है कि अरुणाचल प्रदेश से लापता हुए युवक उनकी तरफ से मिल गए हैं. उन लोगों को हमारे अधिकार को सौंपने के अन्य तरीकों पर काम किया जा रहा है.’

बीते शनिवार (Saturday) को एक प्रमुख स्थानीय अखबार ने एक रिपोर्ट छापी जिसमें दावा किया गया कि तागिन समुदाय के 5 लोगों, जो कि नाचो शहर के पास एक गांव के रहने वाले हैं, का अपहरण कर ल‍िया गया है. अखबार ने ल‍िखा क‍ि इस कथ‍ित अपहरण के वक्त वो जंगल में श‍िकार के ल‍िए गए थे. रिपोर्ट एक रिश्तेदार के हवाले से छापी गई थी जिसने दावा किया कि उन लोगों को चीनी सेना द्वारा अगवा कर लिया गया. यह दावा एक सोशल मीडिया (Media) पोस्ट के जरिए क‍िया गया जो देखते ही देखते वायरल हो गया.

अरुणाचल प्रदेश के अपर सुबनसिरी जिले में स्थ‍ित नाचो रिजीजू के संसदीय क्षेत्र में है. पुलिस (Police) अध‍िकारियों की एक टीम को इन दावों की पड़ताल के लिए भेजा गया – इस गांव तक केवल पैदल ही पहुंचा जा सकता है. इसी तरह की घटना 19 मार्च को हुई थी. तब अरुणाचल के एक 21 वर्षीय युवक टोंगले सिंकम का कथित तौर पर चीनी सेना ने अपहरण कर लिया था. जड़ी-बूटियों की खोज में गए इस युवक का कथित तौर पर मैकमोहन लाइन को पार करके चीन की ओर जाने पर अपहरण कर लिया गया था. उसे 14 दिनों के बाद भारतीय सेना को सौंप दिया गया था.