Tuesday , 22 September 2020

कोरोना संकट के बीच यूपी में शुरु हुआ विधानसभा का मानसून सत्र, एक सीट छोड़कर बिठाए गए विधायक


-अस्वस्थ और 65 साल से अधिक उम्र के विधायक वीडियो कांफ्रेंसिंग से लेंगे बैठक में हिस्सा

लखनऊ . उत्तर प्रदेश (यूपी) का विधानसभा सत्र गुरुवार से शुरू हो गया है. कोरोना महामारी को देखते हुए सत्र के लिए कई विशेष प्रबंध किए गए हैं, जिसकी वजह से विधानसभा का मानसून सत्र बिल्कुल अलग अंदाज में दिखेगा. सभी विधायकों को सदन के भीतर मास्क पहनना अनिवार्य होगा. सदन के भीतर एक सीट छोड़कर सभी विधायक बैठेंगे. दर्शक दीर्घा और दूसरी दीर्घाएं विधायकों के लिए रखी गई हैं.

विधानसभा के अंदर बैठने के लिए सीट की नई प्लानिंग की गई है. मास्क सभी के लिए अनिवार्य कर दिया गया है. समय-समय पर विधानसभा का सैनिटाइजेशन होता रहेगा. सदन आने वाले लोगों के लिए थर्मल स्कैनिंग की भी व्यवस्था है. इससे पहले सत्र में हिस्सा लेने वाले सभी विधायकों के कोरोना टेस्ट कराए गए जिनमें 5 विधायक और मंत्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. मंगलवार को भी विधानसभा में कोरोना के टेस्ट कराए गए थे जिसमें 24 कर्मचारी पॉजिटिव मिले थे.

सत्र में इन दिनों अस्वस्थ चल रहे या जिनकी उम्र 65 साल से अधिक है, वे विधायक ऑनलाइन बैठक में हिस्सा लेंगे. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई विधानमंडल दल की बैठक में यह फैसला लिया गया था मानसून सत्र शुरू होने से पहले ही विधानसभा के कई स्टाफ कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. सत्र शुरू होने से पहले विधानसभा और अन्य करीब 600 कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट किया जा चुका है. जिनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है उनमें विधानसभा के सुरक्षा गार्ड भी शामिल हैं. पूर्व में भी यूपी सरकार के कई मंत्री कोरोना की चपेट में आ चुके हैं. कुछ का निधन भी हो गया है.