Sunday , 11 April 2021

कोरोना काल में टीम इंडिया ने जीत के साथ किया साल का समापन

मुम्बई (Mumbai) . टीम इंडिया ने साल 2020 का जीत के साथ समापन किया है. कोरोना महामारी (Epidemic) के बीच भारतीय क्रिकेट की फिर से बहाली यूएई में आयोजित आईपीएल (Indian Premier League) से हुई. इसमें भी संक्रमण के खतरे को देखते हुए खिलाड़ियों को जैव सुरक्षित माहौल में रहना पड़ा. कई खिलाड़ियों ने लंबे समय तक इस माहौल में रहना कठिन बताया. वहीं भारतीय भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि दर्शकों के बिना मैदान में उतरना एक अजीब अनुभव है क्योंकि खिलाड़ियों को उत्साह और जुनून प्रशंसकों को देखकर ही मिलता है. विराट इस बार पफिर अपनी टीम को आईपीएल (Indian Premier League) नहीं जिता सके. इसके अलावा वह किसी भी प्रारुप में शतक नहीं बना पाये. उनकी कप्तानी में भारतीय टीम को इस साल खेले तीन टेस्ट मैचों में हार का सामना करना पड़ा. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडीलेड में उन्हें करारी हार का सामना करना पड़ा.

वहीं कप्तान अजिंक्य रहाणे ने मेलबर्न टेस्ट में शानदार कप्तानी करके सभी का दिल जीता है. वहीं आईपीएल (Indian Premier League) में राहुल तेवतिया जैसा नया खिलाड़ी एक ओवर में पांच छक्के लगाकर स्टार बन गया. आईपीएल (Indian Premier League) शुरू होने से पहले ही पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह सबको हैरान कर दिया. धोनी के साथ ही सुरेश रैना ने भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया.
धोनी की टीम चेन्नई (Chennai) सुपर किंग्स पहली बार आईपीएल (Indian Premier League) प्लेआफ में भी नहीं पहुंच पायी. टूर्नामेंट शुरू होने से पहले ही उसके दल में 13 लोग कोरोना संक्रमित पाये गए. वहीं रोहित शर्मा की कप्तानी में मुंबई (Mumbai) इंडियंस ने पांचवीं बार आईपीएल (Indian Premier League) खिताब जीता पर उनकी फिटनेस को लेकर सवाल उठे और वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले दो टेस्ट मैचों से बाहर हो गये भारतीय कप्तान विराट कोहली आईसीसी दशक के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर बने और महेंद्र सिंह धोनी को ‘स्पिरिट आफ क्रिकेट’ पुरस्कार मिला. कोहली सर्वश्रेष्ठ वनडे क्र्रिकेटर भी चुने गए और तीनों प्रारूपों में आईसीसी टीम में जगह पाने वाले अकेले खिलाड़ी रहे.

Please share this news