Sunday , 11 April 2021

कोरोनारोधी वैक्सीन का चार राज्यों में आज और कल होगा पूर्वाभ्यास

नई दिल्ली (New Delhi) . कोरोना (Corona virus) के कहर से जूझ रहे भारत में भले ही इसके वैक्सीन आपात उपयोग को मंजूरी नहीं मिली हो, पर इसकी तैयारियां अंतिम चरण में है. इसी के चलते आज और कल टीकाकरण की व्यवस्थाओं के आकलन के लिए चार राज्यों में पूर्वाभ्यास होगा. ये चार राज्य पंजाब, असम, आंध्रप्रदेश (Andhra Pradesh) और गुजरात (Gujarat) हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने को इसकी जानकारी दी थी. इस दौरान वैक्सीन के कोल्डचेन से लेकर लोगों को लगाने तक की सभी प्रक्रिया परखी जाएगी. ताकि वैक्सीन वितरण से पहले खामियों को दूर किया जा सके.
अभ्यास में पूरी प्रक्रिया की ऑनलाइन निगरानी के लिए तैयार को-विन में आवश्यक डेटा भरने, टीम के सदस्यों की तैनाती, उनकी रिपोर्टिंग और शाम को होने वाली समीक्षा बैठक भी शामिल होगी. स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसकी जानकारी दी. इसमें कोरोना वैक्सीन के लिए कोल्ड स्टोरेज और ढुलाई की व्यवस्था का परीक्षण भी शामिल होगा. टीकाकरण केंद्र पर भीड़ प्रबंधन और शारीरिक दूरी जैसी कोरोना संबंधी दिशानिर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित कराने की प्रक्रिया को भी परखा जाएगा.

अभियान के दौरान चारों राज्यों के दो-दो जिलों में पांच अलग-अलग केद्रों पर अभ्यास होगा. जिला अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र या प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, शहरी केंद्र, निजी अस्पताल, ग्रामीण इलाके के केंद्र इनमें शामिल हो सकते हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार वैक्सीन लागने के लिए स्वास्थ्यकर्मियों को प्रशिक्षित करने का काम तेजी से चल रहा है. जिले स्तर पर सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में प्रशिक्षण का काम पूरा हो चुका है. स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार वैक्सीन लगाने के लिए प्राथमिकता समूहों की पहचान हो गई है.

पहले चरण के दौरान 30 करोड़ लोगों का टीकाकरण होगा. इनमें तीन करोड़ स्वास्थ्यकमियों, सुरक्षाकमियों व सफाईकर्मियों के अलावा 50 साल से अधिक आयु के लगभग 27 करोड़ लोग शामिल होंगे. माना जा रहा है कि ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन को इस्तेमाल के लिए सबसे पहले मंजूरी मिल सकती है. सीरम इंस्टीट्यूट ने दवा नियामक को टीके के प्रभाव पर अतिरिक्त आंकड़े सौंप दिए हैं.

Please share this news