Friday , 14 May 2021

कोरोनारोधी टीका लगाने के अगले दिन वार्ड ब्वॉय की मौत, परिवार वालों का आरोप- टीके से बिगड़ी थी हालत

मुरादाबाद (Moradabad) . देश में कोरोना वैक्सीन आने के साथ महामारी (Epidemic) के खिलाफ महाअभियान की शुरुआत हो गई. यूपी मुरादाबाद (Moradabad) के जिला अस्पताल के वार्ड ब्वॉय महिपाल सिंह की कोरोना वैक्सीन लगवाने के अगले दिन मौत से हड़कंप मच गया है. परिजनों का आरोप है कि टीका लगने के बाद से महिपाल की हालत बिगड़ी और रविवार (Sunday) शाम उनकी मौत हो गई जबकि वार्ड ब्वॉय के घर पहुंचे सीएमओ ने कहा कि टीके के रिएक्शन से मौत संभव नहीं है. उन्हें सांस फूलने और सीने में दर्द की शिकायत पर अस्पताल लाया गया था. मौत के कारण की पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से होगी. वहीं टीकाकरण के बाद एक डॉक्टर (doctor) समेत चार और लोगों ने बुखार की शिकायत की है.

मुरादाबाद (Moradabad) जिला अस्पताल में तैनात वार्ड ब्वॉय महिपाल सिंह ने शनिवार (Saturday) को जिला अस्पताल केंद्र में कोरोना का टीका लगवाया था. इसके बाद उन्होंने नाइट ड्यूटी भी की. घर लौटने पर रविवार (Sunday) को दोपहर के बाद उनको सांस लेने में तकलीफ और सीने में जकड़न महसूस हुई. एंबुलेंस (Ambulances) से उन्हें जिला अस्पताल ले जाया गया लेकिन इस दौरान उनकी मौत हो चुकी थी. महिपाल की मौत की जानकारी मिलने पर उसके घर पहुंचे सीएमओ डॉक्टर (doctor) एमसी गर्ग ने परिजनों से भी मुलाकात की. कहाकि पोस्टमार्टम में सारी स्थिति साफ हो जाएगी. सीएमओ ने बताया कि कोरोना के टीके से रिएक्शन की बात प्राथमिक जांच में सामने नहीं आई है. परिजन उनके सीने में जकड़न और सांस फूलने की शिकायत बता रहे हैं. अस्पताल पहुंचने से पहले उनकी मौत हो चुकी थी. पोस्टमार्टम से स्थिति साफ हो जाएगी.

उधर, महिपाल के बेटे विशाल ने बताया कि पिताजी की टीका लगाने के बाद ही हालत बिगड़ी. हालांकि उन्होंने यह स्वीकार किया कि उनको निमोनिया की शिकायत थी लेकिन टीके ने उनकी तबीयत अचानक बिगाड़ दी. जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने इस संबंध में बताया कि सीएमओ ने उन्हें इस मामले की जानकारी दी है सीएमओ ने कहा है कि पोस्टमार्टम के बाद ही सही वजह पता चलेगी.

Please share this news