Friday , 7 May 2021

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा, समाधान कब निकलेगा ये नहीं पता

नई दिल्ली (New Delhi) . केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन 55 दिनों से जारी है. इसी बीच मंगलवार (Tuesday) को उच्चतम न्यायालय द्वारा गठित की गई कमिति की भी बैठक है. जिसमें किसान संगठनों ने जाने से साफ इनकार कर दिया है. भारतीय किसान संगठन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार और किसान दोनों का भी मानना है कि बातचीत से ही समाधान होगा. बता दें कि सरकार और किसानों के बीच नौ दौर की वार्ता हो चुकी है और अभी तक कोई समाधान नहीं निकल पाया है. किसान संघ अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं. किसानों की मांग है कि सरकार कृषि कानूनों को वापस लें और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) कानून बनाएं.

उधर राकेश टिकैत ने बताया कि सरकार और किसान दोनों का ही मानना है कि बातचीत से ही समाधान निकलेगा. लेकिन समाधान कब निकलेगा ये नहीं पता. उच्चतम न्यायालय द्वारा गठित की गई कमेटी की मंगलवार (Tuesday) को होने वाली बैठक में हम नहीं जा रहे हैं. उल्लेखनीय है कि किसानों की समस्याओं पर चर्चा के लिए उच्चतम न्यायालय ने चार सदस्यीय कमेटी बनाई थी. जिसके एक सदस्य भारतीय किसान यूनियन (मान) के अध्यक्ष भूपिंदर सिंह मान ने खुद को अलग कर लिया था.

Please share this news