Monday , 19 October 2020

किशनी पुलिस ने चेकिंग के दौरान पकड़ी, फैक्ट्री मेड राइफल और कारतूस

मैनपुरी( )किशनी.एक समय था जब चम्बल के बीहडों में राज करने बाले डाकू आधुनिक असलहों से लैस रहते थे. अब समय बदल गया है. अब भिण्ड और मुरैना के लोग मैनपुरी के असलहों पर निर्भर हो चुके है. यही कारण है कि जनपद मुरैना के छह लोगों को थाना पुलिस (Police) ने रायफल के साथ गिरफ्तार किया है. जो थाना बेबर के एक गांव से लेकर आ रहे थे.

इंस्पेक्टर अजीतसिंह ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि कुछ लोग सफेद रंग की बुलैरो पर अबैध असलाह लेकर कुसमरा से इटावा की ओर जा रहे हैं. सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष ने अपने दो सब इंस्पेक्टरों उपनिरीक्षक जैकब फर्नान्डिस तथा ऊदलसिंह को मय फोर्स जटपुरा चौराहे पर भेज दिया. कुछ ही देर के बाद पुलिस (Police) को एक सफेद रंग की बुलैरो आती दिखी. पुलिस (Police) ने कार को रूकबाया और उसमें बैठे छह लोगों को कार से नीचे उतार लिया. पूछने पर चालक ने अपना नाम धर्मेन्द्र शिकरवार उर्फ लल्ली पुत्र रामसिंह निवासी गांव कोल्हूडांडा थाना चिनौनी जिला मुरैना मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) बताया.

उसकी तलाशी पर कमर में बंधी वैल्ट में 12 जिंदा कारतूस वरामद हुये. सहचालक की सीट पर बैठे ब्यक्ति ने अपना नाम श्रीराम पुत्र गोपालसिंह,तीसरे ने अपना नाम बन्टी पुत्र सरदारसिंह शिकरवार,चौथे ने हवलदारसिंह पुत्र भगवानसिंह,पांचवें ने ध्रुव सिंह पुत्र पोखनसिंह तथा छठवें ब्यक्ति ने अपना नाम गजेन्द्र पुत्र ओमवीर निवासी कोल्हूडांडा बताया. इसके बाद पुलिस (Police) ने कार संख्या एमपी 07 सीजी 3290 बुलैरो पावर प्लस की तलाशी ली. पर रायफल कहीं नजर नहीं आई. बाद में पुलिस (Police) ने जब सूक्ष्मता के साथ निरीक्षण किया तो कार के पिछले हिस्से के पायदान में एक फैक्ट्र्रीमेड रायफल नजर आगई. पुलिस (Police) सभी को थाने लेआई और सामूहिक तौर पर पूछताछ के दौरान सभी ने बताया कि गांव में उनकी कुछ लोगों से मुकद्दमेबाजी और पार्टीबन्दी चल रही है. इससे उनकी रंजिश बढ गई. दूसरा चुनाव भी नजदीक आ रहे है. रायफल पास हो तो चुनाव में वरचस्व बना रहता है.

इसी कारण उन्होंने थाना बेबर के गांव परौखा निवासी पंकज पुत्र साहबसिंह के मकान के सामने बनी बैठक में पंकज, बन्टू चौहान पुत्र जगपालसिंह निवासी जगतपुर थाना बेबर,तथा थाना क्षेत्र के गांव मदनापुर निवासी अनिल कुमार उर्फ कल्लू भदौरिया पुत्र नामालूम से एकलाख तीस हजार रूपयों में खरीदी है और इसे अपने घर ले जा रहे थे. कार के बारे में पूछने पर बताया कि कार उसके बहनोई शिवकुमार तोमर पुत्र रामसनेही निवासी चरखा,थाना भितरवार,जनपद ग्वालियर के नाम पर रजिस्टर है. थाना पुलिस (Police) ने उक्त छहों के खिलाफ सुसंगत धाराओं में केस दर्ज कर सभी को जेल भेज दिया है. पुलिस (Police) पता लगाने का प्रयास कर रही है कि असलाह कहां से लाते हैं तथा अब तक वह कितने लोगों को असलाह उपलब्ध करा चुके है.