Saturday , 15 May 2021

कांची कामकोटि मठ के शंकराचार्यश्री को सौंपी बालाजीपुरम की स्वर्ण कुंजिका

बैतूल /नवल-वर्मा. भारत का पांचवा धाम बालाजीपुरम मन्दिर आज कांची कामकोटि मठ में शामिल हुआ, बालाजीपुरम मन्दिर के संस्थापक सेम वर्मा ने कांची कामकोटि से आये पदाधिकारियों को मन्दिर सहित 100 करोड़ की संपत्ति सहित स्वर्ण कुंजिका सौंपकर उसे शंकराचार्य के हवाले किया.

इसके पूर्व रविवार (Sunday) की सुबह बालाजीपुरम में स्वर्ण कुंजिका की दर्शन यात्रा निकाली गई. मन्दिर संस्थापक सेम वर्मा के निवास स्थान से सेम वर्मा व उनकी पत्नी ने स्वर्ण कुंजिका को थाल में लेकर निकले. इस दर्शन यात्रा में सैकड़ों लोग शामिल हुए यात्रा चित्रकूट धाम से होते हए बालाजी मंदिर पहुँची. मन्दिर के अर्ध मण्डप में भगवान बालाजी के समक्ष स्वर्ण कुंजिका का विधि विधान से पूजन अर्चन किया गया और मन्दिर संस्थापक ने मन्दिर की स्वर्ण कुंजिका कांची कामकोटि मठ के पदाधिकारी सुन्दरेश जी को सौंप दी. इस दौरान मन्दिर के सभी ट्रस्टी मौजूद थे. साथ ही नए ट्रस्टी भी मौजूद रहे.

– कार्यक्रम के दौरान भावुक हुए सेम वर्मा..

वर्मा ने बताया कि किस तरह उन्होंने बालाजीपुरम मन्दिर को बनाया था और 20 वर्ष पहले उसकी स्थापना की गई थी तब से अब तक उन्होंने मन्दिर को संभाला और व्यवस्थित रूप से संचालित किया. लेकिन अब वे 80 वर्ष के हो चुके हैं आगे इस जिम्मेदारी को नहीं उठा पाएंगे. इसलिये शंकराचार्य को मन्दिर सौंप दिया है. अब कांची कामकोटि मठ मन्दिर को नई ऊंचाइयों पर ले जाएगा.

– बालाजीपुरम में बनेगा संस्कृति धाम…

कांची कामकोटी मठ से आये बलाजीपुरम मन्दिर के नए ट्रस्टी सुदर्शन ने बताया कि आज बालाजीपुरम मन्दिर की स्वर्ण कुंजिका मिलने के बाद से यह मंदिर शंकराचार्य के अधीन हो गया है. मन्दिर जैसा चल रहा है ऐसा ही चलता रहेगा इसके साथ ही मन्दिर में संस्कृति धाम बनाया जाएगा. जिससे चारों वेदों की पाठशाला बनेगी जिसमे वेदों की पढ़ाई कराई जाएगी. साथ ही यह जगह सनातन धर्म का बहुत बड़ा सेंटर बनेगा.

– जनप्रतिनिधियों सहित प्रशासन बना साक्षी…

स्वर्ण कुंजिका समर्पण कार्यक्रम में प्रशासन की ओर से डिप्टी कलेक्टर (Collector) निशा बारंगे सहित सांसद (Member of parliament) डीडी उइके, बैतूल विधायक निलय डागा, आमला विधायक डॉ. योगेश पण्डागरे मौजूद रहे. इन सभी का स्वागत शंकराचार्य द्वारा भेजी गई इलायची की माला पहनाकर किया गया. कार्यक्रम के दौरान सभी जन प्रतिनिधियों ने अपने उद्बोधन में सेम वर्मा द्वारा किये गए इस अनूठे और अभूतपूर्व कार्य की सराहना की.

– कार्यक्रम के दौरान शंकराचार्य ने वर्चुअल आशीर्वाद दिया…

स्वर्ण कुंजिका भेंट कार्यक्रम के दौरान कांची कामकोटि पीठ के शंकराचार्य ने वर्चुअल संवाद किया. जिसका प्रसारण भी लाईव दिखाया गया. शंकराचार्य ने कहा कि मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) धार्मिक प्रदेश है. यहाँ से धर्म की शुरुआत हुई थी. बालाजीपुरम मन्दिर अब मठ में शामिल हो गया है यहाँ संस्कृति धाम का निर्माण होगा. कार्यक्रम का मंच संचालन सुनील द्विवेदी ने किया. कार्यक्रम के दौरान अरुण किलेदार, बबलू खुराना, प्रवीण गुगनानी, जितेंद्र चौधरी, जितेंद्र वर्मा, पवन वर्मा, शरद वर्मा, पूर्व नगर परिषद अध्यक्ष सुधाकर पवांर, विनय बंटी वर्मा, गजानन वर्मा, अनिल सिंह ठाकुर, बलवंत धोटे, प्रज्ञा भारती, राजेश आहूजा सहित मन्दिर के पूर्व ट्रस्टी राजीव खण्डेलवाल, रवि काले, महेश वर्मा, असीम पंडा सहित गणमान्य नागरिकगण मौजूद रहे.

Please share this news