Friday , 14 May 2021

आमलपुरा हाई स्कूल आलमपुरा में हुआ अनोखा आयोजन

सागर . सागर संभाग के जिला टीकमगढ़ के जनपद पलेरा के जनपद पंचायत ग्राम आलमपुरा हाई स्कूल में बुंदेलखंड के महान समाजसेवी राष्ट्रीय आदर्श शिक्षा रत्न उपाधि से सम्मानित संतोष गंगेले कर्मयोगी द्वारा हाई स्कूल आलमपुरा में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के तहत बेटियों का पूजन सम्मान एवं उन्हें साहित्य सामग्री वितरण देकर सम्मानित किया गया.

इस अवसर पर ग्राम आलमपुरा के सबसे बुजुर्ग नागरिक लीलाधर यादव जी जो बरेदी के नाम से जाने जाते हैं एवं ग्राम के 10 से अधिक बुजुर्ग पुरुष और महिलाओं का जिनकी उम्र 80 से 90 साल के बीच थी सभी का पुष्पमाला से सम्मान किया गया उनके ऊपर गुलाब के पुष्पों की बर्षा की गई. उनके लम्बे और स्वस्थ्य जीवन की कामना की गई. हाई स्कूल आलमपुरा में पदस्थ बच्चों की देखरेख करने वाली महिला एवं दो वृद्ध महिलाओं को सम्मानित कर ठंडी से बचने संतोष गंगेले कर्मयोगी ने कंबल वितरण किए गए इस अवसर पर हाई स्कूल के शिक्षक अंकित नायक द्वारा इस कार्यक्रम के बारे में विस्तार से चर्चा की गई समाजसेवी संतोष गंगेले कर्मयोगी ने उपस्थित जनसमूह के बीच विद्यार्थियों को उच्च जीवन जीने के लक्षण बताएं यातायात नियमों के पालन करने पर बल दिया साथ ही परीक्षा की तैयारी स्वच्छ भारत अभियान को लेकर के माता पिता गुरु के सम्मान करने का संकल्प दिलाया गया lसंकल्प के साथ विधार्थीओ को परीक्षा की तैयारी हेतु जन जागरण किया. बृद्धों बेटिओं का सम्मान किया गया.

संस्था के प्राचार्य अजय अर्जरिया जी ने अपने विचार रखते हुए बच्चों को बताया कि बुंदेलखंड क्षेत्र में समाजसेवी संतोष गंगेले कर्म योगी द्वारा जो कार्य भारतीय संस्कृति संस्कारों शिक्षा समरसता स्वच्छ भारत बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ एवं बुजुर्गों के सम्मान का किया जा रहा है उसकी तुलना करने योग्य कोई व्यक्ति नहीं है समाज में ऐसे व्यक्ति महापुरुषों के गिनती में आते हैं समाजसेवी संतोष गंगेले कर्मयोगी एक किसान और माध्यम परिवार के होने के बाद भी एक छोटे से परिवार में जन्म लेकर के अपनी पहचान बुंदेलखंड स्तर पर बनाई है उनके 11 वचनों को विचारों को प्रत्येक विद्यार्थी को जीवन में अनुसरण करना चाहिए इस अवसर पर उन्होंने संतोष गंगेले कर्म योगी जी के प्रति अभिनंदन और आभार व्यक्त किया गया.

Please share this news